आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 17 Oct 2017 20:41:26

आपको अपने अंदर से बाहर की तरफ विकसित होना पड़ेगा। कोई भी आपको यह नहीं सिखा सकता, और न ही कोई आपको आध्यात्मिक बना सकता है। आपकी अपनी अंतरात्मा के अलावा आपका कोई शिक्षक नहीं है -स्वामी विवेकानंद