आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 19 Oct 2017 12:53:16

हमारा  कर्तव्य   है  कि  हम  हर  किसी  को  उसका  उच्चतम  आदर्श  जीवन  जीने के  संघर्ष  में  प्रोत्साहन  करें  और  साथ  ही  साथ  उस  आदर्श  को  सत्य  के  जितना  निकट हो  सके  लाने  का  प्रयास  करें-स्वामी विवेकानंद