मनुष्य को स्वस्थ्य और सक्षम बनाने का कार्य आरोग्य भारती कर रही है : मा. मोहन भागवत जी

दिंनाक: 28 Oct 2017 19:37:29

इंदौर में आरोग्य भारती की दो दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि मंडल बैठक का उदघाटन समारोह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प. पू. सरसंघचालक  मा.  मोहनराव भागवत जी ने किया | इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि श्री श्रीपाद येसो नाइक, स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्रालय,राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार), भारत सरकार एवं डॉ राजेश कोटेचा, सचिव, आयुष मंत्रालय, भारत सरकार मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री श्री रुस्तम सिंह जी  उपस्थित रहे |

उन्होंने कहा की आरोग्य भारती किसी चिकित्सा पद्धति के विरोध में नहीं है, अपितु सभी पद्धतियो को पूर्ण करने के लिए उत्पन्न हुआ है | आरोग्य भारती का ध्येय है कि कोई मनुष्य बीमार न पड़े | हर व्यक्ति को नियमित व्यायाम, हितकर आहार, सही मात्र में आहार, ऋतू अनुसार आहार और विहार अपनाना चाहिए | उन्होंने कहा की इन सब बातो का ध्यान रखने से व्यक्ति की शरीर ही नहीं बुद्धि और मन भी स्वस्थ्य रहता है |  उन्होंने संस्कारों पर ध्यान दिलाते हुए कहा की संस्कार अच्छे हो तो जीवन शैली भी अच्छी रहती है |

मा. मोहनराव भागवत जी ने आरोग्य भारती के मुख्य बिंदु स्वस्थ व्यक्ति – स्वस्थ परिवार, स्वस्थ ग्राम – स्वस्थ राष्ट्र पर सभी से कार्य करने का आहवान किया |  

उदघाटन समारोह के पहेले आचार्य भाव प्रकाश प्रदर्शनी का आयोजन किया गया | प्रदर्शनी का उदघाटन  श्री श्रीपाद येसो नाइक, स्वस्थ्य एवं आयुष मंत्रालय, राज्यमंत्री, भारत सरकार ने किया | इस अवसर पर मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री श्री रुस्तम सिंह जी भी उपस्थित थे | प्रदर्शनी में राशियों, नक्षत्र के अनुसार लगाये जाने वाले वृक्षों की जानकारी दी गई |  प्रदर्शनी में स्वस्थ्य से जुडी जानकारी ज्ञान वाटिका एवं नक्षत्र वाटिका के माध्यम से दी गई |

कार्यक्रम में मंच पर मा.  मोहनराव भागवत जी के साथ श्री श्रीपाद येसो नाइक, डॉ राजेश कोटेचा, सुनील जी मालू, रमेश जी गौतम, डॉ राघवेन्द्र जी कुलकर्णी , डॉ प्रवीण जी भावसार, डॉ सुनील जी जोशी और डॉ आर सी वर्मा उपस्थीत थे |

समारोह में योगाचार्य डॉ. आर. सी. वर्मा, वरिष्ट अस्थिरोग विशेषज्ञ को योग एवं चिकित्सा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए अ. भा. माधवराव धाक्रस स्मृति जीवनशैली पुरस्कार से सम्मानित किया गया अतिथियों को स्वागत में फलो की डलिया से किया गया  | एवं डॉ. मनोहर भंडारी द्वारा लिखी गयी पुस्तक स्वस्थ भारत सम्रध भारत स्मारिका का विमोचन किया गया  

इस राष्ट्रीय अधिवेशन में पूरे देश भर से 700 से अधिक प्रांतीय स्तर के महिला एवं पुरुष चिकित्सक उपस्थित हो रहे है |