संघ समाज को संस्कारित और संगठित करने का कार्य कर रहा – कैलाश जी

दिंनाक: 05 Oct 2017 23:48:48

जयपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राजस्थान क्षेत्र के बौद्धिक शिक्षण प्रमुख कैलाश जी ने कहा कि हम सशक्त, सम उन्नत और शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में सम्पूर्ण दुनिया को अपना नेतृत्व प्रदान कर सकें, क्योंकि भारत के जिम्मे ही पूर्ण मानवता और विश्व शांति का काम आया है. यह तभी सम्भव होगा, जब भारत का प्रत्येक नागरिक देश के लिए जीने और मरने के लिए तैयार हो. वे जयपुर के महेश नगर में आयोजित विजयादशमी उत्सव में उपस्थित स्वयंसेवकों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि समाज की सज्जन शक्ति को जाग्रत करने के लिए और सबको संस्कारित और संगठित कर समाज की सेवा के लिए प्रस्तुत होना होगा. सब के अन्दर देश भक्ति का भाव जगे, इसी के संस्कार और विचार देने का काम संघ कर रहा है. संघ विजयादशमी को विजय पर्व के रूप में मनाता है.

एक अन्य कार्यक्रम में मुख्य वक्ता ने कहा कि हिन्दुत्व राष्ट्रीयत्व है, और राष्ट्रीयत्व ही हिन्दुत्व है. विजयशालिनी शक्ति से ही राष्ट्र का उद्धार होगा. संघ का स्वयंसेवक दैनिक शाखा की नित्य साधना से ही संगठन का भाव ग्रहण करता है. शाखा से व्यक्ति, व्यक्ति से राष्ट्र का निर्माण होता है. आज समाज को संगठन की आवश्यकता है. संघ का स्वयंसेवक राष्ट्र सेवा के लिए जो कुछ सम्भव होता है, वह करता है.

संघ के स्थापना दिवस पर शहर में 26 स्थानों पर शस्त्र पूजन कार्यक्रम हुए. इसके बाद समस्त स्थानों पर क्षेत्र के विभिन्न मार्गों हजारों स्वयंसेवक घोष के साथ कदम से कदम मिलाते हुए पथ संचलन करते हुए निकले.