आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 06 Oct 2017 15:06:48

आदर्श, अनुशासन, मर्यादा, परिश्रम, ईमानदारी और उच्च मानवीय मूल्यों के बिना किसी का जीवन महान नहीं बन सकता-स्वामी विवेकानंद