आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 10 Nov 2017 23:38:21


बस वही जीते हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं-स्वामी विवेकानंद