आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 13 Nov 2017 21:51:42


दूसरों के कल्याण से बढ़कर दूसरा कोई नेक काम और धर्म नही होता - ईश्वरचन्द्र विद्यासागर