आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 20 Nov 2017 20:11:33


खुद को कमज़ोर समझना सबसे बड़ा पाप है - स्वामी विवेकानंद