आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 26 Nov 2017 23:12:48


सबसे बड़ा धर्म है अपने स्वभाव के प्रति सच्चे होना-स्वामी विवेकानंद