मां के बिना बच्चे का नहीं होता पूर्ण विकास : हिरेमठ

दिंनाक: 03 Nov 2017 20:36:18

भोपाल, 03 नवम्बर । सेवा भारती (मध्यभारत) भोपाल द्वारा संचालित मातृछाया शिशु कल्याण केंद्र के नवीनीकृत स्थान का लोकार्पण शुक्रवार को सायं 4 बजे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अ.भा. कार्यकारिणी सदस्य सुहास राव हिरेमठ, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर एवं सेवा भारती मध्यभारत प्रांत के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण गोदानी व क्षेत्रीय संगठन मंत्री सेवाभारती रामेंद्र सिंह की उपस्थिति में हुआ। इस दौरान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अ.भा. कार्यकारिणी सदस्य सुहास राव हिरेमठ ने मां की महत्ता को प्रतिपादित करते हुए अनेक उदाहरणों से अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि मां का कोई विकल्प नहीं है। इसलिए ही मां के बिना बच्चे का ठीक से विकास नहीं होता है।

उन्होंने कहा कि बच्चे मां से ही उचित संस्कार प्राप्त करते हैं। हमारे इस भवन का नाम जो मातृछाया शिशु कल्याण केंद्र रखा गया है और यहां जिस प्रकार से यशोदामांओं के बीच बच्चों का लालन-पालन होता है, नि:संदेह यह हम सभी के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि समाज को ऐसे सभी कार्यों में बढ़-चढ़ सहयोग करना चाहिए तथा इन कार्यों में निष्काम भाव से सेवा देने वालों के प्रति भी अपना आभार व्यक्त करते रहना चाहिए।

इस अवसर पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर कहा कि यह परिसर देखकर मुझे आनांद की अनुभूति हुई है। सेवाभारती का यह प्रकल्प मातृछाया अपने नाम के अनुरूप ही कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि सेवाभारती श्रीमद्भगवद्गीता के निष्काम कर्म योग के पथ पर अग्रसर है। यहां के सभी कार्यकर्ता इसी भाव से कार्य कर रहे हैं। यह श्रेष्ठ सेवा है। उन्होंने कहा कि बिना शासकीय सहयोग के मातृछाया जैसे प्रकल्पों को प्रदेश और देशभर में चलाना बहुत ही प्रसंस्कीय कार्य है। इसके लिए सेवाभारती के लिए साधुवाद है।

वहीं कार्यक्रम में मातृछाया शिशु कल्याण केंद्र के अध्यक्ष लक्ष्मेंद्र माहेश्वरी ने इस नवीनीकृत परिसर की संकल्पना रखी। उनका कहना था कि देश में यह अपने आप में एक श्रेष्ठ शिशु कल्याण केंद्र बने, इस संकल्पना के साथ इसका नवीनीकरण किया गया है। इस अवसर पर सेवाभारती के क्षेत्रीय संगठन मंत्री रामेंद्र जी ने बताया कि समूचे देशभर में केंद्रीय महिला बाल विकास के मार्ग दर्शन में तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जितने भी बड़े शिशु गृह चल रहे हैं, उनका अध्ययन करके मध्यप्रदेश की राजधानी में इस मातृछाया शिशु कल्याण केंद्र का नवीनीकरण किया गया है। आगे हमारी तैयारी इस दिशा में अन्य महत्वपूर्ण योजनाएं पूरी करने की है।

इस अवसर पर नि:स्वार्थ भाव से सेवाभारती द्वारा चलाए जा रहे स्वास्थ्य शिविरों में अपना योगदान देने वाले चिकित्सकों डॉ. किरण शेजवार, डॉ. ललित श्रीवास्तव. डॉ. पुष्पा कनौजिया. डॉ. मेहुल अग्रवाल. डॉ. पंकज पाण्डेय. डॉ. अंकित पाण्डेय और डॉ. अंजलि पाण्डेय को सम्मानित भी किया गया। आभार प्रदर्शन मातृछाया की उपाध्यक्ष एवं बाल संरक्षण आयोग की सदस्य अमिता जैन ने किया।