कुम्भ को यूनेस्को ने दी सांस्कृतिक धरोहर की मान्यता

दिंनाक: 16 Dec 2017 17:05:33


काशी (विसंके). हिन्दुओ के धार्मिक आस्था के केंद्र कुम्भ मेले को यूनेस्को की सांस्कृतिक सूची में शामिल किया गया है. इस उपलब्धि पर संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने ट्वीट में कहा, हमारे लिए यह गर्व का क्षण है कि पावन कुम्भ मेले को यूनेस्को द्वारा मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर की सूची में जगह दी गई है.

विदेश मंत्रालय ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र के संगठन यूनेस्को की सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण के लिए गठित अंतर सरकारी समिति ने कुम्भ मेले को ‘मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत’ सूची में शामिल किया है. इस समिति की इस समय दक्षिण कोरिया के जेजू में बैठक चल रही है. यूनेस्को ने कहा कि कुम्भ मेला इलाहाबाद, हरिद्वार, उज्जैन और नासिक में लगता है. इसमें देश-विदेश के लाखो श्रृद्धालु एकत्र होकर पवित्र नदियो में डुबकी लगाते है और धार्मिक अनुष्ठान करते है. अंतर सरकारी समिति ने एक ब्यान में कहा, ‘कुम्भ मेला' धार्मिक उत्सव के तौर पर सहिष्णुता और समग्रता को दर्शाता है.