सतीश पिंपलीकर पुनः प्रांत संघचालक निर्वाचित हुए

दिंनाक: 25 Dec 2017 16:40:10


भोपाल(विसंके). मध्य भारत प्रांत के प्रांत संघचालक सतीश पिंपलीकर को आज पुनः सर्वसम्मति से प्रांत संघचालक बनाया गया है. सीहोर के शेरपुर में आयोजित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के तीन दिवसीय प्रांत खंड टोली शिविर के दूसरे दिन रविवार को सभी प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से प्रांत संघचालक के रूप में सतीश पिंपलीकर का चुनाव किया है. श्री पिंपलीकर सोमवार को सहयोगियों से चर्चा कर प्रांत कार्यकारिणी की घोषणा करेंगे. शिविर में मध्यभारत भोपाल के आठों विभाग के संघ चालकों के चुनाव भी संपन्न हुए. चुनाव में राजेन्द्र बांदिल ग्वालियर, सुरेश जैन मुरैना, सुरेश देव विदिशा, लक्ष्मीनारायण चौहान राजगढ़, धन्नालाल दोगने नर्मदापुर, देवेन्द्र सिंह कुशवाहा शिवपुरी, बख्तावर सिंह गुना एवं अनिल तामडू को भोपाल विभाग का संघ चालक सर्वसम्मति से निर्वाचित किये गए हैं. तीन दिवसीय शिविर में प्रांत के आठों विभागों से कुल 1308 प्रतिनिधि सम्मिलित हुए. सभी प्रतिनिधियों को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने संबोधित किया. शिविर में क्षेत्र प्रचारक अरुण जैन एवं सह क्षेत्र प्रचारक दीपक विस्पुते सहित कई वरिष्ठ पदाधिकारी भी उपस्थिति रहे.
पांच केंद्रीय प्रतिनिधि भी चुने गए

शिविर के दूसरे दिन रविवार को पांच केन्द्रीय प्रतिनिधियों का चुनाव किया गया है. संजीव मिश्रा मुरैना, विजय दीक्षित ग्वालियर, हेमंत सेठिया राजगढ़, विक्रम सिंह भोपाल और नर्मदापुर से अभिषेक खंडेलवाल को केन्द्रीय प्रतिनिधि निर्वाचित किया गया है.

पिंपलीकर जी का परिचय

 सतीश पिंपलीकर का जन्म भोपाल में 13 अक्टूबर 1949  को हुआ. श्री पिंपलीकर ने 1972 में भोपाल के मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय से एमएससी (रसायन शास्त्र) किया. वे दतिया में तीन वर्ष तक संघ के प्रचारक रहे. श्री पिंपलीकर ने बैतूल और नर्मदापुरम विभाग में विभिन्न दायित्वों पर कार्य किया. वर्ष 2009 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यकारिणी में विभिन्न दायित्वों पर कार्य किया. वर्ष 2011  आपने  प्रांत के संघ चालक का दायित्व संभाला. वे मध्यप्रदेश विधुत मंडल में रसायनविज्ञ के पद पर पदस्थ हुए. वे 1975 से 1982  तक कोरबा में 1983  से 2005 तक सारणी में तथा 2005  से 2007  तक उमरिया जिले के वीरसिंहपुर में चीफ केमिस्ट के पद पर पदस्थ रहे.