मीडिया का उद्धेश्य लोकमंगल व राष्ट्रहित - कुलपति प्रो. मिश्र

दिंनाक: 27 Dec 2017 14:52:18


जबलपुर(विसंके). मीडिया का उद्धेश्य लोकमंगल व राष्ट्रहित होना चाहिए तभी समाज के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को इसके सकारात्मक परिणाम देखने मिलेंगे. भारतीय परम्परानुसार पत्रकारिता के आदर्श नारद मुनि हैं,  आज की मीडिया को भी इन्हीं भारतीय मूल्यों का पालन करना चाहिए. उक्त विचार माननीय कुलपति प्रो. कपिल देव मिश्र ने संचार अध्ययन एवं शोध विभाग, व्यावसायिक अध्ययन एवं कौशल विकास संस्थान तथा म.प्र. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद्, भोपाल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित 6 दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला के उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए व्यक्त किए.
सारस्वत अतिथि युगधर्म के पूर्व सम्पादक श्री भगवतीधर बाजपेयी ने कहा कि पत्रकार का मूल कार्य जनता के प्रति जवाबदारी है. गरीब, पीड़ितों की आवाज उठाना मीडिया का बुनियादी काम है. ऐसे में नई पीढ़ी के पत्रकारों को तकनीक से तालमेल बनाकर चलना होगा. नई पीढ़ी को कम्प्यूटर और मोबाईल फ्रेंडली होना भी आवश्यक है.

मुख्य अतिथि पूर्व सम्पादक इंडिया टुडे श्री जगदीश उपासने ने कहा कि आज मीडिया चहुँ ओर विस्तारित हो चुका है. न्यू मीडिया के पास आज असीमित ताकत है,  इसी के साथ उसकी जिम्मेदारियां भी बढ़ गई हैं. मीडिया को इसी जिम्मेदारी को पहचानना होगा. विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री नितिन महाराज, महंत, शारदाधाम, मैहर, प्रो. एस.के. सिंह,  माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता वि.वि.,  भोपाल, प्रो. उमा त्रिपाठी एवं कला संकायाध्यक्ष प्रो. राधिका प्रसाद मिश्र मंचासीन थे. संयोजक प्रो. सुरेन्द्र सिंह ने स्वागत भाषण का वाचन किया एवं विभागाध्यक्ष पत्रकारिता डॉ. धीरेन्द्र पाठक ने कार्यक्रम का संचालन किया. डॉ. मोहम्मद जावेद, डॉ. शैलेन्द्र सिंह,  डॉ. अजय मिश्रा एवं डॉ. निपुण सिलावट ने अतिथियों का स्वागत किया.

इस अवसर पर प्रो. राकेश बाजपेयी, प्रो. शैलेष कुमार चैबे, प्रो. आर.के. पाण्डेय, प्रो. एस.एन. बागची, प्रो. वाय.के. बंसल,  डॉ. लोकेश श्रीवास्तव, डॉ. मीनल दुबे,  डॉ. सत्यप्रकाश त्रिपाठी, रजनीश सिंह,  मदन सिंह सहित पत्रकारिता विभाग के छात्र-छात्राएं उपस्थित थे.

तकनीकी सत्र का आयोजन -

राष्ट्रीय कार्यशाला के प्रथम दिवस द्वितीय सत्र में विषय विशेषज्ञ के रूप में माखनलाल पत्रकारिता वि.वि., भोपाल के प्रो. श्रीकांत सिंह ने समाचार लेखन पर विद्यार्थियों को विषय की बारीकियों से अवगत कराया. पत्रकारिता विषय विषेषज्ञ प्रो. उमा त्रिपाठी ने अध्यक्षता की.