भोपाल में बनेगा तीरंदाजी का गोल्डन विश्व रिकार्ड -20वी राष्ट्रीय वनवासी खेल प्रतियोगिता

दिंनाक: 28 Dec 2017 18:01:09


भोपाल(विसंके). वनवासी कल्याण आश्रम द्वारा आयोजित 20वी राष्ट्रीय वनवासी खेल प्रतियोगिता का शुभांरभ वनवासी कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री कृपाप्रसाद सिंह अध्यक्षता में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान, खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के विशिष्ट आतिथ्य में व श्रीमती नीलिमा ताई पटटे, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वनवासी कल्याण आश्रम संतोष अग्रवाल की गरिमामय उपस्थिति में हुआ.

पारंपरिक लोक नृत्यों के साथ प्रदेश के मुखिया का स्वागत किया गया. अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन उपरांत मुख्य वक्ता श्री अतुल जी जोग अखिल भारतीय कल्याण आश्रम राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री ने अपने संबोधन में बताया कि यहां तीरंदाजी में गोल्डन बुक ऑफ़ विश्व रिकार्ड बनने जा रहा है. अभी तक इतने जनजाति तीरंदाज खिलाडी एक साथ शामिल नहीं हुए हैं. यहां आए खिलाड़ियों ने जहां चार-चार दिन का सफर तय किया है. वहीं किसी प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षित नहीं हैं. तीरंदाजी में 316 वनवासी समाज के खिलाडी यहां भाग ले रहे हैं. वनवासी कल्याण आश्रम ऐसे प्रतिभावान खिलाड़ियों को अवसर प्रदान कर  रहा है. भोपाल में 20वीं राष्ट्रीय वनवासी खेल प्रतियोगिता में तीरंदाजी व खोखो को शामिल किया गया है. वहीं मैट पर माडर्न खो-खो यहां आयोजित हो रही है. जो कि अपने आप में एक विशेषता लिए हुए है. समाज के संगठन में खेल का विशेष महत्व रहता है. जो कि राष्ट्र को गरिमा प्रदान कर रहा है.


उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि आप सभी खिलाडी मामा के घर आएं हैं, आपका स्वागत है. सभी खिलाड़ियों को भोपाल भ्रमण कराया जाएगा. जिसमें जनजातीय संग्रहालय, शौर्य स्मारक,  वोट क्लब,  मानव संग्रहालय दिखाने की व्यवस्था खेल एवं युवक कल्याण विभाग द्वारा की जाएगी. उक्त उल्लेख करते हुए भोपाल में रानी कमला पति की विशाल प्रतिमा लगाने की घोषणा की.

खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने अपने संबोधन मे कहा कि म.प्र. सरकार तीरंदाजी खेल को बढ़ावा दे रहा है. जबलपुर में स्थित संस्थान से 10 वर्ष की बालिका मुस्कान किरार अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले रही है. यहां से चयनित प्रतिभाशाली तीरंदाजों को म.प्र. सरकार अवसर देने में पीछे नहीं हटेगी.