सरस्वती शिशु मंदिर के खिलाड़ी छात्र अगले ओलम्पिक में देश का नेतृत्व करें - श्री शिवराज सिंह

दिंनाक: 29 Mar 2017 15:24:28


भोपाल, सरस्वती शिशु मंदिर के खिलाड़ी छात्र आगामीं ओलम्पिक में अपनी खेल प्रतिभा का श्रेष्ठ प्रदर्शन करें उक्त उद्गार प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विद्या भारती के खेल प्रतिभा सम्मान समारोह में व्यक्त किए ।

श्री चौहान ने कहा कि विद्या भारती केवल निजी संस्था ही नहीं अपितु श्रेष्ठ पीढ़ी निर्माण की दृष्टि से समाज एवं राष्ट्र की शैक्षिक सम्पत्ति है । सरस्वती शिशु मंदिरों में नैतिक चरित्र एवं जीवन मूल्यों की शिक्षा दी जाती है, खेल के क्षेत्र में भी अच्छे स्तर के खिलाड़ी इन संस्थाओं में तैयार होते हैं । शिक्षा के साथ-साथ खेल के क्षेत्र में भी सरस्वती शिशु मंदिरों के भैया-बहिनो ने विशेष पहचान बनाई है ।

कार्यक्रम में आगे बोलते हुए श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खेल के संसाधनो का अभाव होते हुए भी इन खिलाडि़यों ने प्रयत्नों की पराकाष्ठा करते हुए खेलों में सफलता प्राप्त की है ।

श्री चौहान ने सरस्वती शिशु मंदिरों के खिलाड़ी भैया-बहिनों से आह्वान किया कि वे आगामी ओलम्पिक में देश का नेतृत्व करें ।

शिशु मंदिरों की अपेक्षा को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विद्या भारती ने प्रदेश ही नहीं, अपितु राष्ट्र की भी बड़ी सेवा की है इसीलिए समाज के सभी वर्गों को सरस्वती शिशु मंदिरों का भरपूर सहयोग करना चाहिए ।

श्री चौहान ने घोषणा की कि मध्यप्रदेश शासन की ओर से सरस्वती शिशु मंदिर के खिलाडि़यो को खेल सुविधाऐं उपलब्ध कराई जाएगी । खिलाडि़यों के प्रशिक्षण हेतु विविध खेल विधाओं के खेल प्रशिक्षक(कोच) उपलब्ध कराना । अशासकीय विद्यालयों के खिलाडि़यो को शासकीय विद्यालयों के खिलाडि़यो के समान खेल छात्रवृत्ति देना तथा खेल मैदानों एवं खेल संसाधनों के विकास हेतु अनुदान देना आदि । 

श्री चौहान ने विद्या भारती के सरस्वती शिशु मंदिरों से अपेक्षा की है कि वे पर्यावरण संरक्षण हेतु वृक्षारोपण एवं स्वच्छता में अपनी बढ़चढ़कर सहभागिता करें ।

विद्याभारती मध्यभारत प्रांत (मध्यप्रदेश 16 जिले) द्वारा संचालित सरस्वती शिशु मंदिरों के 20 विद्यालयों से 400 के लगभग खिलाडि़यों ने राष्ट्रीय शालेय खेलकूद समारोह (SGFI) में सहभागिता करते हुए 17 स्वर्ण पदक, 28 रजत पदक, 57 कांस्य पदक कुल 102 पदक प्राप्त किए हैं । इन प्रतिभागियों का प्रतिभा सम्मान समारोह मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में आयोजित किया गया । कार्यक्रम का प्रारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन एवं मॉ सरस्वती की वंदना के साथ हुआ।               

इस अवसर पर प्रदेश के शिक्षा मंत्री श्री विजय शाह, विद्या भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री गोविन्द प्रसाद शर्मा तथा एस.जी.एफ.आई के महासचिव श्री राजेश मिश्रा ने भी खिलोडि़यों को संबोधित किया ।अंत में मुख्यमंत्री ने खेल प्रतिभाओं एवं खेल शिक्षकों को सम्मानित किया । कार्यक्रम का संचालन श्री राजेश तिवारी एवं आभार श्री मनीष वाजपेयी ने किया ।इस अवसर पर सर्व श्री रोशनलाल सक्सेना, श्री श्रीराम आरावकर, निरंजन शर्मा, मोहन लाल छीपा,  हितानंद शर्मा, अनिल अग्र्रवाल, रामकुमार भावसार, डॉ. भागीरथ कुमरावत, मुखतेज सिंह बदेशा विशेष रुप से उपस्थित थे ।कार्यक्रम में खेल प्रतिभागियों के साथ खेल संघो के पदाधिकारी अभिभावक एवं नगर के गणमान्य नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे ।