भारतीय कृषि को जैविक खेती की ओर ले जाने का प्रयास करें – दिनेश जी

दिंनाक: 23 May 2017 21:08:10

जयपुर (विसंकें). भारतीय किसान संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री दिनेश जी ने कहा कि सरकार नियमों का सरलीकरण कर तथा किसानों को पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध करवाकर रासायनिक खेती की जगह जैविक खेती की और भारतीय कृषि को ले जाने का प्रयास करें. दिनेश जी केशव विद्यापिठ जामडोली में भारतीय किसान संघ के तीन दिवसीय प्रदेश अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में किसानों को संबोधित कर रहे थे. प्रदेश अधिवेशन (18 से 20 मई तक) में सम्पूर्ण राजस्थान से 825 किसान भाग ले रहे हैं.

दिनेश जी ने सरकारों द्वारा किसानों को दी जा रही कर्ज माफी का विरोध करते हुआ कहा कि अन्नदाता को किसी भी सरकार से रहम या भीख की आवश्कता नहीं है, आवश्यकता यह कै कि किसानों की फसलों को समय रहते राज्य सरकारें अगर सर्मथन मूल्य पर भी खरीद लेती हैं तो भी भारत वर्ष के किसानों का नैतिक स्वाभिमान न गिराते हुए उसकी मदद की जा सकती है. उन्होंने कहा कि किसान और किसानी को लेकर राजनीति किसी भी दल द्वारा नहीं कि जानी चाहिए, जो भी दल विपक्ष में बैठता है, वह किसानों की बात करने लगता है और सत्ताधारी दल किसानों को छोड़कर अन्य योजनाओं पर ध्यान देने में लग जाता है. जिससे भारतीय कृषि और दलदल में फंस जाती है. राजनैतिक दलों को किसानों का विश्वास जीतने के लिए काम करना चाहिए. दिनेश जी ने कहा कि भारतीय कृषि को ऊंचाईयों पर ले जाने का कार्य करना चाहिए. किसान संघ 425 जिलों में लगभग 22 लाख सदस्यों के साथ रचनात्मक और संगठनात्मक कार्य से समाज को जगाने तथा आन्दोलनों के माध्यम से सत्ताधारी सरकारों को जगाने में जुटा हुआ है.

प्रदेश महामंत्री कैलाश गंदोलिया जी ने पूरे वर्ष किसान संघ द्वारा राजस्थान प्रदेश में किए कार्यों का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया. किसान संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अम्बुभाई पटेल, प्रदेश अध्यक्ष मणीलाल जी, प्रदेश संगठन मंत्री कृष्ण मुरारी जी तथा राजस्थान के विभिन्न तहसीलों से आये कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में प्रदेश अधिवेशन में किसानों के हितों कृषि नीतियों पर मंथन किया. उद्घाटन सत्र में युवा कृषि विशेषज्ञ पवन टांक की पुस्तक ‘‘जैविक खेती समग्र आवधारणा’’ का भी विमोचन किया गया.