मीडिया पर देश को दिशा देने की जिम्मेदारी होती है-गिरधर मालवीय

दिंनाक: 09 May 2017 21:50:06

गाजियाबाद (विसंकें) l पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में राष्ट्र जागरण समिति द्वारा केरल और पश्चिम बंगाल में संघ कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों के विरोध में विशाल धरने का आयोजन किया गया। इसमें लोगों ने हजारों की संख्या में भाग लिया। इस अवसर पर जिला अधिकारी के माध्यम समिति की ओर से राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को प्रेषित किया गया। समिति के मंत्री श्री कैलाश चन्द ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि केरल और पश्चिम बंगाल में सुनियोजित तरीके से लगातार हिन्दुओं का उत्पीड़न किया जा रहा है। ममता राज में तो हालात यह है कि हिन्दू समुदाय के लोगों को अपने अस्तित्व की रक्षा के लिए कठिन संघर्ष करना पड़ रहा है। यहां के पीडि़त हिन्दुओं की बात पुलिस और प्रशासन द्वारा सुनी नहीं जा रही। कार्यक्रम में उपस्थित खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री श्री अतुल गर्ग ने कहा कि सम्पूर्ण राष्ट्र ने एकजुट होकर केरल तथा बंगाल में हो रही अराजक गतिविधियों का विरोध नहीं किया तो ही भारत को कश्मीर जैसा व्यापक संकट झेलना पड़ सकता है। प्रान्त प्रचार प्रमुख श्री अजय मित्तल ने कहा कि 1921 में मोपला कांड में कांग्रेस के लचर रवैये के चलते हिन्दुओं में कांग्रेस के प्रति गुस्सा था और इसी का लाभ उठाकर साम्यवाद केरल में अपनी जड़ें जमाने में सफल हो सका।

'संघ के बढ़ते प्रभाव से बौखला रहे विरोधी'
नोएडा (विसंकें) l केरल में निरंतर जारी रक्त रंजित हिंसा के विरोध में राष्ट्र जागरण समिति, नोएडा महानगर द्वारा पिछले दिनों नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय पर विशाल धरना एवं प्रदर्शन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचार प्रमुख श्री पद्म सिंह ने कहा कि बंगाल में अराजक विचारधारा वाले दल द्वारा हिन्दुओं का उत्पीड़न किया जा रहा है। यह देश की अखंडता के लिए चिंता का विषय है। कार्यक्रम में उपस्थित नोएडा के विधायक श्री पंकज सिंह ने कहा कि ऐसी सरकार को बर्खास्त करना चाहिए जो किसी एक विचारधारा को स्थापित करने के लिए अन्य विचारधाराओं को कुचलने का काम करे। हम हिन्दू समाज पर हो रहे इस प्रकार के हमले को बर्दाश्त नहीं करेंगे।  

'मीडिया पर देश को दिशा देने की जिम्मेदारी'
''भारतीय मीडिया में हिन्दू शब्द आते ही एक वर्ग बहुत सशंकित होकर सारे विषय को देखता है। हिन्दू जीवन पद्धति के प्रति दुराग्रह रखकर मीडिया का एक वर्ग समाचार बनाने का काम करता है।'' ये विचार न्यायमूर्ति श्री गिरधर मालवीय ने गत दिनों जयपुर के पाथेय भवन में पाथेय कण के 'क्यों भटका हुआ है भारत का मीडिया?' अंक के विमोचन अवसर पर व्यक्त किये। 

महामना पं. मदन मोहन मालवीय जी के पौत्र न्यायमूर्ति गिरधर मालवीय ने कहा कि मीडिया पर देश को दिशा देने की जिम्मेदारी होती है। इसलिए समाचार लिखते समय बहुत सावधानी की आवश्यकता रहती है। पाथेय कण के संपादक श्री कन्हैयालाल चतुर्वेदी ने अंक की जानकारी देते हुए कहा कि भारतीय मीडिया के अनेकों संस्थान रूस तथा अमेरिका की एजेंसियों के प्रभाव में रहते हैं। 

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित होने वाली अनेक रपटों से ये खुलासे हो चुके हैं कि हमारा सेकुलर मीडिया विदेशी एजेंसियों के प्रभाव में अनेक राष्ट्र विरोधी खबरें प्लांट करता रहता है और राष्ट्रभावी खबरों के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार करता है। यह कार्य न केवल मीडिया को अपमानित करता है बल्कि समूचे मीडिया जगत की विश्वसनीयता पर ही सवाल खड़े कर देता है। पत्रकारों को ऐसी चीजों को ध्यान रखना चाहिए।