आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 30 Jun 2017 10:31:50

हम जितना ज्यादा बाहर जायें और दूसरों का भला करें, हमारा ह्रदय उतना ही शुद्ध होगा, और परमात्मा उसमे बसेंगे-स्वामी विवेकानंद