विद्या भारती की प्रगति को देख कर प्रदान की बस

दिंनाक: 04 Jun 2017 23:39:01

देहरादून (विसंके): उत्तराखण्ड में शैक्षिक क्षेत्र में विद्या भारती का नाम सबसे अग्रणी संस्थानों में है। इसकी सफलता को देखते हुए परम श्रद्धेय श्री भोले जी महाराज एवं करूणामयी माता श्री मंगलादेवी जी की प्रेरणा से हंस कल्चरल सेन्टर ने विद्या भारती के स्कूल को शैक्षिक कार्य हेतु आज नारायण मुनि सरस्वती शिशु मन्दिर राजपुर रोड़ में एक बड़ी बस विवेकानन्द विद्या मन्दिर डीडीहाट पिथौरागढ़ को सहायतार्थ प्रदान की। ज्ञात रहे कि इस वर्ष विद्या भारती ने प्रदेश की इण्टरमीडिएट परिषदीय परीक्षाओं में सर्वोच्च तीन स्थानों में अपनी जगह बनाई है। इससे पूर्व भी हंस कल्चरल सेन्टर ने सरस्वती विद्या मन्दिर तिमली, पौड़ी एवं पिथौरागढ़ को भी एक-एक बस भेंट कर चुके हैं।

इस अवसर पर हंस कल्चरल सेन्टर कोडिनेटर सत्यपाल सिंह नेगी ने कहा कि श्री भोले जी महाराज एवं करूणामयी माता श्री मंगलादेवी जी की प्रेरणा से हंस कल्चरल सेन्टर उत्तराखण्ड को शैक्षिक क्षेत्र में अग्रणीय राज्य बनाना चाहता है। इसीलिए हंस कल्चरल सेन्टर विद्या भारती को आगामी समय में 10 स्कूल बसें भेंट करेगा और बताया कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत सेन्टर हरिद्वार-ऋषिकेश में स्वच्छता अभियान भी चलायेगा।

विद्या भारती के प्रदेश संगठन मंत्री भुवन जी ने बताया कि उत्तराखण्ड के विकास कार्यों में श्री भोले जी महाराज एवं माता मंगलादेवी जी द्वारा एक आन्दोलन के रूप में शैक्षिक जगत में विभिन्न प्रकार के कार्य किये जा रहे हैं जो सराहनीय है। इस प्रकार के कार्यों का ऋण चुकाना कभी भी सम्भव नहीं है।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि हंस कल्चरल सेन्टर और विद्या भारती निस्वार्थ भाव से प्रदेश में कार्य कर रहा है। इसी प्रकार कुछ अन्य संगठन भी कार्य करेें तो शिक्षा और विकास में एक नई क्रांति आ जाए। उन्होंने बताया कि उत्तराखण्ड के दूरस्थ एवं पिछडे़ क्षेत्र में बिना सरकारी सहायता से विद्या भारती शिक्षास्तर में उल्लेखनीय कार्य कर रही है।

कार्यक्रम का संचालन शिशु शिक्षा समिति के प्रदेश निरीक्षक सत्य प्रसाद बंगवाल ने किया। इस अवसर पर महानगर संघचालक गोपाल कृष्ण मित्तल, विश्व संवाद केन्द्र निदेशक विजय कुमार, सचिव राजकुमार टोंक, विद्या भारती के प्रदेश मंत्री सुरेन्द्र मित्तल, भारतीय शिक्षा समिति प्रदेश निरीक्षक डाॅ. विजय पाल सिंह हंस कल्चरल सेन्टर के सचिव चंदन सिंह भण्डारी, प्रदेश प्रभारी प्रदीप राणा, समाज सेवी पं. मुन्ना लाल नौटियाल एवं देवेन्द्र सिंह नेगी, दिनेश कण्डारी, दीवान सिंह, प्रधानाचार्य छत्रपाल सिंह, शिव कुमार सैनी, भानू प्रकाश गुप्ता, नीरज अग्रवाल, बीरेन्द बिष्ट सहित कई गणमान्य जन उपस्थित थे।