आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 23 Jul 2017 16:05:14

आकांक्षा , अज्ञानता , और  असमानता  – यह  बंधन  की  त्रिमूर्तियां  हैं-स्वामी विवेकानंद