आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 16 Aug 2017 20:39:08

एक शब्द में, यह आदर्श है कि तुम परमात्मा हो-स्वामी विवेकानंद