आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 20 Aug 2017 23:31:30



बाहरी  स्वभाव  केवल  अंदरूनी   स्वभाव  का  बड़ा  रूप  है-स्वामी विवेकानंद