आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 29 Aug 2017 18:46:00

स्वतंत्र  होने  का  साहस  करो। जहाँ  तक  तुम्हारे  विचार  जाते  हैं वहां  तक  जाने का  साहस  करो , और  उन्हें  अपने  जीवन  में उतारने  का  साहस  करो-स्वामी विवेकानंद