गीदड़, कायरता न समझें सिंहों की खामोशी को - डॉ.पवन तिवारी 

दिंनाक: 03 Aug 2017 21:21:36

महाकौशल (विसंकें) l आज दिनांक 3/8/2017 को विद्याभारती महाकौशल प्रांत की ओर से मालवीय चौक जबलपुर में आयोजित "ऐतिहासिक रक्षाबंधन पर्व" भारत देश का अद्वितीय कार्यक्रम बन गया | सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ने वाली छात्राओं के द्वारा सैनिक भाईयों को अपने हाँथो से निर्मित राखियाँ बांधी गईं | इस आयोजन में प्रांत संगठन मंत्री डॉ पवन तिवारी ने अपने ओजस्वी भाषण में चीन से बनी राखियों के विरोध करते हुए उन्होंने सेना के जवानो से आह्वान किया कि "आप सीमा पर चीन को मत घुसने देना हम देशवासी बाजार में चीनी वस्तुओं को नहीं घुसने देंगें | तथा उन्होंने सम्पूर्ण देशवासियों से प्रार्थना की कि आने वाले रक्षाबंधन के दिन हिन्दुस्तानी राखी बांधकर देशभक्ति का भाव जगाएं |" प्रांत के 2 लाख 50 हजार भैया/बहिनों एवं आचार्य परिवार के माध्यम से विद्याभारती महाकौशल प्रांत का यह विचार लगभग 10 लाख लोगों तक पहुँचाया गया है | प्रांत भर से आए विभिन्न विद्यालयों के प्राचार्यों के साथ नगर के हजारों गणमान्य जन इस भव्य-दिव्य आयोजन के साक्षी बने | कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ.सुधीर अग्रवाल ने किया |



आज का दिन विद्याभारती परिवार के लिए अत्यंत आनंददायी रहा।देश की सीमाओं पर जान की बाजी लगाने वाले सैनिकों को शिशु मंदिर जबलपुर की बहिनों ने स्वनिर्मित राखी बांधी । कई सैनिक भाइयों को अनेक वर्ष बाद यह अवसर मिलने पर भावविभोर हो गए ,चलते चलते एक सैनिक ने पास आकर कहा कि एक रोटी कम खाना पर चीनी सामान मत खरीदना,तो हमने कहा कि आप चीन को सीमा पर नही घुसने देना,हम सब देशवासी चीन को बाजार में नहीं घुसने देंगे,अब समय आ गया है प्रत्यक्ष व्यवहार का ...हमारी योजना के लगभग 2.5 लाख विद्यार्थियों एवं आचार्य परिवार ने स्वतःस्फूर्त होकर महाकोशल प्रान्त के लगभग 10 लाख परिवारों में संपर्क कर जन जागरण किया है आइये आप हम सभी राष्ट्र रक्षा के इस महाअभियान में सहभागी बनें....-डॉ. पवन तिवारी