दिल्ली में संपन्न हुआ लघु उद्योग भारती का राष्ट्रीय अधिवेशन

दिंनाक: 11 Sep 2017 20:08:12

सूक्ष्म लघु उद्योगों के मध्य कार्य करने वाले राष्ट्रीय संगठन लघु उद्योग भारती का राष्ट्रीय अधिवेशन 9- 10 सितंबर  अध्यात्म साधना केंद्र दिल्ली मैं संपन्न हुआ | लघु उद्योग भारती कटनी इकाई अध्यक्ष अरुण सोनी ने बताया कि कटनी इकाई से 4 सदस्य इस  राष्ट्रीय अधिवेशन में सम्मिलित हुए | इस दो दिवसीय कार्यक्रम में संपूर्ण भारतवर्ष से (लेह लद्दाख से लेकर कन्याकुमारी तक एवं गुजरात प्रांत से लेकर मेघालय, मणिपुर आदि प्रांतों )  लगभग 1500 उद्यमियों ने इसमें अपनी सहभागिता प्रदान की | 

संपूर्ण कार्यक्रम 6 अलग-अलग सत्रों में  संपन्न हुआ | कार्यक्रम का उद्घाटन कार्यक्रम के मुख्य वक्ता-  दत्तात्रेय होसबोले, [सह- सरकार्यवाह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ], मुख्य अतिथि -गिरिराज सिंह [सूक्ष्म एवं लघु उद्योग मंत्री भारत सरकार], विशिष्ट अतिथि-गजेंद्र सिंह शेखावत [केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री ] व  ओम प्रकाश मित्तल राष्ट्रीय अध्यक्ष लघु उद्योग भारती के द्वारा किया गया | प्रथम सत्र में पी.पी. चौधरी ( केन्द्रीय विधि राज्य मंत्री ) जी के समक्ष उद्यमियों की जीएसटी बैंकिंग व अन्य विधि से संबंधित समस्याओं पर चर्चा की गई|

द्वितीय सत्र में सी.आर. चौधरी (खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्य मंत्री) एवं स्किल डेवलपमेंट कारपोरेशन अधिकारियों द्वारा महिला उद्यमिता को किस तरह बढ़ाया जाए और केंद्र सरकार की योजनाएं महिला उद्यमिता में किस तरह सहायक है इसकी जानकारी दी गई |अधिवेशन में  सभी उद्यमियों को लघु उद्योग भारती के तत्वाधान में आगामी माह अक्टूबर व जनवरी में जयपुर व बंगलौर में आयोजित industrial फेयर की जानकारी दी गई | साथ ही ग्राम शिल्पी, संगठन विस्तार व विज्ञान भारती के द्वारा सूक्ष्म व लघु उद्योगों के लिए जो नई तकनीकी विकसित की गई है उसका लाभ उद्यमियों द्वारा किस तरह उठाया जा सकता है इस तरह की समस्त जानकारी  दी गई |

राष्ट्रीय अधिवेशन में कटनी इकाई अध्यक्ष अरुण सोनी द्वारा मध्यप्रदेश व कटनी  के उद्यमियों की समस्याओं से सदन  तथा केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री जीे को अवगत कराया गया कि किस तरह आज पूरे मध्यप्रदेश विशेषकर कटनी में दाल उद्योग व माइनिंग उद्योग जिसमें चूना उद्योग भी शामिल है  आज खत्म होने की कगार में है यदि जल्द ही इनकी समस्याओं का निराकरण  व विशेष संरक्षण नहीं दिया तो निश्चित ही भविष्य में इन उद्योगों का अस्तित्व मध्यप्रदेश में खत्म हो जाएगा | जिससे कि बेरोजगारी की समस्या और अधिक बढ़ जाएगी केंद्रीय नेतृत्व द्वारा संपूर्ण समस्याओं की गंभीरता को समझते हुए जल्दी इनके निराकरण हेतु आश्वासन दिया गया है साथ ही आगामी समय में किसी भी प्रांतीय व केंद्रीय समस्या आने पर पूर्ण सहयोग का भरोसा प्रत्येक उद्यमियों को दिया गया है राष्ट्रीय अधिवेशन दिल्ली में कटनी इकाई की ओर से अध्यक्ष अरुण सोनी, संभागीय अध्यक्ष ऋषि ग्रोवर ,उपाध्यक्ष हरिसिंह , कार्यकारिणी सदस्य रॉकी राजपलानी ने हिस्सा लिया |