आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 29 Oct 2018 14:22:43


यदि यन्त्र मानव का स्थान लेकर उसे भूखा मारे तो वह उन उद्देश्यों के विपरीत होगा, जिनकी सिद्धि के लिए यन्त्र का आविष्कार हुआ | जड़ मशीन इसकी दोषी नहीं है | यह बुराई उस अर्थव्यवस्था की है, जिसमे विवेक लुप्त हो जाता है  |


- पं. दीनदयाल उपाध्याय