सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय में मनाई गई लौह पुरुष की जयंती

दिंनाक: 31 Oct 2018 15:00:22


भोपाल(विसंके). सरस्वती विद्यापीठ आवासीय विद्यालय में सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती बड़े ही हर्षोल्लास पूर्वक मनाई गई जिस निमित्त विद्यालय में एक बृहद कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य वक्ता की आसन्दी से छात्रों को संबोधित करते हुए विद्यालय के वरिष्ठ व्याख्याता श्री गोपाल सिंह राठौर ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत को एकता के सूत्र में पिरोने वाले महान व्यक्तित्व थे, जिन्होंने राष्ट्र को स्वाधीन कराने के लिए अथक परिश्रम किया, लौह पुरुष के साथ साथ वह एक ऐसे राजनेता के रूप में जाने जाते है जो सदैव पिछड़ो के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध रहे , सरदार पटेल को आधुनिक भारत के निर्माता के रूप में हमेशा याद किया जाता रहेगा, श्री गोपाल ने उनके कार्यों के वारे में जानकारी देते हुए बताया कि आपने 562 से अधिक रियासतों का एकीकरण कर संगठित भारत की संकल्पना को साकार किया जो कि देश की एकता और अखंडता के लिए सदैव अविस्मरणीय रहेगा ।



कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन के साथ सरस्वती वंदना से किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्राचार्य श्री पवन शर्मा, अध्यक्षता वरिष्ठ व्याख्याता श्री गोपाल सिंह राठौड़ एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष श्री राजकुमार शर्मा रहे । अतिथियों का स्वागत भैया रवि रावत के द्वारा तिलक लगाकर किया गया ।

इस अवसर पर प्रति बुधवार की भांति विज्ञान प्रयोग किया गया जिसमें भैया युवराज कौरव ने वायुमंडल में ऑक्सीजन की उपस्थिति के सिद्धांत पर आधारित प्रयोग का प्रदर्शन किया ।

साथ ही 31 वीं अखिल भारतीय फील्ड आर्चरी प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाले भैयाओं को सम्मानित भी किया गया , सभी विजेता भैया राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में सहभागिता करेंगे ।


कार्यक्रम के अंत में अध्यक्षीय आशीर्वचन प्रदान करते हुए श्री पवन शर्मा जी ने कहा कि सरदार पटेल बहुमुखी प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे जिन्होंने पूरी तन्मयता और लगन से दिन रात एक करते हुए भारत को एकता के सूत्र में बांधने का प्रयास कर राष्ट्र की  स्वतंत्रता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई , स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत का गौरव है ऐसे महापुरुष के जीवन से हम सभी को प्रेरणा लेकर स्वदेशी वस्तुओं का उपयोग कर राष्ट्रीय हित में अपना योगदान देना चाहिए ।


कार्यक्रम का सफल संचालन एवं आभार श्री कमल किशोर कोली द्वारा किया गया ।

इस अवसर पर समस्त भैया एवं आचार्य परिवार उपस्थित रहा ।