आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 05 Oct 2018 16:30:28


यदि लगातार झगड़े होते रहेंगे तथा शत्रुता होती रहेगी तो हमारी जनता को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा । परस्पर लड़ने की बजाय हमें गरीबी, बीमारी और अज्ञानता से लड़ना चाहिए । दोनों देशों की आम जनता की समस्याएं, आशाएं और आकांक्षाएं एक समान हैं । उन्हें लड़ाई-झगड़ा और गोला-बारूद नहीं, बल्कि रोटी, कपड़ा और मकान की आवश्यकता है


  • लालबहादुर शास्त्री