संस्कारों के क्षरण के कारण ही पर्यावरण का नुकसान हो रहा – निंबाराम जी

दिंनाक: 09 Oct 2018 14:44:21


जयपुर (विसंकें). अमृता देवी पर्यावरण नागरिक (अपना) संस्थान जयपुर प्रांत द्वारा रविवार, 07 अक्तूबर को खासा कोठी के निकट स्थित होटल कंट्री इन में सम्मान समारोह आयोजित किया गया. समारोह की अध्यक्षता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह क्षेत्र प्रचारक निंबाराम जी ने की. उन्होंने कहा कि हमारी जीवन पद्धति वैज्ञानिक है. पर्यावरण हमारे जीवन से जुड़ा है. संस्कारों के क्षरण के कारण ही पर्यावरण का नुकसान हो रहा है. अपना संस्थान धरातल पर मजबूती से पर्यावरण के क्षेत्र में स्थाई काम कर रहा है. सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री अरुण चतुर्वेदी जी समारोह के मुख्य अतिथि थे. अपना संस्थान के राजस्थान क्षेत्र के क्षेत्र सचिव विनोद जी मेलाना ने कहा कि हम जल बना नहीं सकते, इसलिए जल संरक्षण आवश्यक है. भीलवाड़ा में जल संरक्षण पर किए प्रयोगों की जानकारी दी.  इस अवसर पर अपना संस्थान का एप “नेचर का फ्यूचर” भी लोकार्पित किया गया.


समारोह में जयपुर प्रांत में पर्यावरण संरक्षण, पौधारोपण, जल संरक्षण आदि विषयों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले महानुभावों का सम्मान किया गया. कार्यक्रम के दौरान श्रीमाधोपुर के डॉ. योगेश यादव, सतवीर सामोता, जमवारामगढ़ के समंदर सिंह मीणा, टोंक के प्रदीप चौधरी, निवाई के राम सहाय वर्मा, दातारामगढ़ की मधु कुमावत, लालसोट के संत रघुनाथ जी, संस्कृति चिल्ड्रन एकेडमी के समन्वयक आयुष शर्मा, लालसोट के शंभू लाल शर्मा, उदयपुर वाटी के डॉ. हरिसिंह गोदारा, सीकर के ताराचंद शर्मा, कोटडी धायलान के मनोज शर्मा, जयपुर के सूरज सोनी , शीतल जैन, अमृत पारीक, रघुनंदन मिश्रा, सुरेश शर्मा, विभव जैन, अक्षत भारद्वाज, तनिष्का, मोहन सैनी सहित अन्य का सम्मान किया गया.