समरसता_कुम्भ के रूप में कल होगा सामाजिक समरसता का अद्वितीय समागम

दिंनाक: 20 Feb 2018 19:07:09


भोपाल(विसंके). मध्यप्रदेश की धरती 21 फरवरी  को इतिहास रचने जा रही है। मध्यप्रदेश के ह्रदय स्थल रायसेन में आयोजित समरसता कुम्भ में हिन्दू समाज का अदभुत समागम होगा। जिसमें प्रत्येक गांव से प्रत्येक समाज, पंथ सम्प्रदाय का प्रत्येक परिवार का प्रत्येक व्यक्ति सम्मिलित होकर आयोजन को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाऐंगे। पिछले लगभग 6 माह से रात-दिन कार्य कर रहे कार्यकर्ताओं का अथक परिश्रम उस समय रंग दिखायेगा, जब हिन्दू समाज की रंग-बिरंगी समरसता भगवा ध्वज तले देखने को मिलेगी। एक वर्ष पूर्व नियोजित इस कार्यक्रम में लाखों लोग सम्मिलित होंगे। आयोजन में भागीदारी करने वाले लोग न सिर्फ भीड़ होंगे, बल्कि वे लोग होंगे जो वर्ष भर अपने गांव में समय-समय पर आयोजित होने वाले अनेक कार्यक्रमों में अपनी भागीदारी करते रहे हैं। पर्यावरण संरक्षण, युवा शक्ति जागरण, मातृशक्ति जागरण, गौ-संरक्षण, गौ-संवर्धन,स्वास्थ चेतना, संयुक्त परिवार को बढ़ावा देना, आदि कार्यक्रमों के माध्यम से सज्जनशक्ति एकत्रीकरण कर जिले के सैंकड़ों ग्रामों में अभी तक हजारों आयोजन में लाखों लोग सम्मिलित हो चुके हैं। 
मालूम हो कि, रायसेन जिला जनजाति एवं अनुसूचित जाति बाहुल्य है। यहां सभी लोग समाज में व्याप्त कुरूतियों एवं बुराइयों को त्यागकर एक नया आयाम स्थापित करेंगे। यह सर्व विदित है देशी-विदेशी समाज द्रोही शक्तियां हिन्दू समाज की सांस्कृतिक एकता को तोडऩे का प्रयास कर रही है। इसके लिए अनेक प्रकार के षडयंत्र चल रहे हैं, ऐसे में आवश्यक है हमारा समाज सामाजिक समरसता के सम्मेलन कर समाज तोड़क शक्तियों को मुंह तोड़ जवाब दे, अपितु हम अंदर से एक हैं, यह संदेश भी दुनिया को दें। तथा हजारों वर्ष पुरानी हमारी इस सभ्यता के रूडिय़ों और बुराइयों को तिलांजलि दें और एक नए भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाए। जिसमें मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सर कार्यवाह श्री सुरेश सोनी मुख्य रूप से उपस्थित रहेंगे एवं समरसता कुम्भ के मुख्य अतिथि संत श्री 1008 उत्तम स्वामी जी महाराज उपस्थित रहेंगे ओर अपना मार्गदर्शन देंगे। यही समरसता कुम्भ का उद्धेश्य रहेगा।