हिंदुत्व से बेहतर कोई और व्यवस्था नहीं: अमेरिका के प्रोफेसर के. पेनिंग्टन

दिंनाक: 24 Mar 2018 17:01:41


पूरी दुनिया में हिंदुत्व से बेहतर कोई और  व्यवस्था नहीं हैं. सकारात्मक आस्था के मामले में हिंदु धर्म दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है. भारत में गंगा को माँ का दर्जा दिया गया है. ऐसा आपको दुनिया में कहीं देखने को नहीं मिलेगा. हिंदुत्व में मानव सभ्यता के आदर्श समाहित हैं. प्रकृति की पूजा भारत के मूल मे है. जीवन को संचालित करने की हिंदुत्व से बेहतर काई और व्यवस्था नहीं है. हिंदू धर्म का उद्देश्य मानव सभ्यता के विकास और मानवीय जीवन शैली को बेहतर बनाने पर केन्द्रित रहा है. ये बातें अमेरिका के नॉर्थ कैरोलिना स्थित ऐलोन विश्वविद्यालय में धार्मिक इतिहास विभाग के वरिष्ठ प्राध्यापक ब्राइन के.पेनिंग्टल ने उत्तराखंड के उत्तरकाशी में कही. प्राध्यापक ब्राइन ने बताया कि उनके जीवन में भी हिंदुत्व का बडा महत्व है. यह उनके लिए गर्व की बात है कि वह हिंदुत्व पर शोध कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि वह हिंदुत्व एवं हिंदू मान्यताओं पर तीन पुस्तके लिख  चुके हैं. प्राध्यापक ब्राइन इन दिनों शोध के सिलसिले में भारत आए हुए हैं. उन्होंने आगे बताया कि हिंदुत्व पर लंबे शोध में उन्होंने अब तक यही पाया कि सांस्कृतिक मूल्यों और मान्यताओं के रूप में हिंदुत्व का इतिहास मानव सभ्यता के विकास जितना ही पुराना है. एक धर्म के रूप में इसके सभी सांस्कृतिक मूल्यों और समान मान्यताओं का एकीकरण क्रमिक चरण में हुआ. प्राध्यापक ने बताया कि हिन्दू धर्म के इतिहास पर शोध करने के लिए वे वर्ष 1993 में पहली बार भारत आए थे. हिंदुत्व को लेकर अब तक इनकी जीन पुस्तकें वास हिंदुइज्म इनवेंटेड‘, ‘रीचिंग रिलीजियन एंड वाइलेंस‘ और ‘रिचुअल इनोवेशन‘ प्रकाशित हो चुकी हैं. उनके शोध का विषय देवी-देवताओं और हिंदुत्व के बीच संबंध पर केंद्रित हैं.