आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 13 Apr 2018 16:09:52


जब तक देश में लाखों लोग भूखे और अनपढ़ हैं, में हर उस आदमी को देशद्रोही मानता हूँ, जो पढ़ने-लिखने और काबिल बनने के बाद उनकी मुसीबतों पर जरा भी ध्यान देने को तैयार नहीं.


     - स्वामी विवेकानंद