उज्जैन में आयोजित हो रहा है विराट गुरूकुल सम्मेलन, देश विदेश के तीन हजार से अधिक प्रतिनिधि होंगे शामिल

दिंनाक: 27 Apr 2018 16:30:57


भोपाल(विसंके). महर्षि सांदीपनि राष्ट्रीय वेद विद्या प्रतिष्ठान उज्जैन में 28 से 30 अप्रैल तक तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय विराट गुरुकुल सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इस सम्मेलन में देश-विदेश के गुरुकुल के तीन हजार से अधिक प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं। तीन दिनों तक चलने वाले इस विराट सम्मेलन का उद्धाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत करेंगे। इस अवसर पर केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ. प्रकाश जावड़ेकर, राज्यमंत्री डॉ. सत्यपाल सिंह, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, स्वामी संवित सोमगिरी, आचार्य गोविन्द देवगिरी, स्वामी राजकुमार दास आदि गणमान्य हस्तियां मौजूद रहेंगी।

प्रदर्शनी के माध्यम से दिखायी जाएगी गुरुकुल की झलक : 
विराट गुरू सम्मेलन के पहले दिन देश भर से आये करीब 45 आदर्श गुरुकुल सांस्कृतिक प्रदर्शनी का मंचन करेंगे। इस दौरान वे प्रदर्शनी के माध्यम से गुरुकुल परंपरा, उसकी महत्ता और उसकी विशेषताओं को दर्शाते हुए प्रस्तुति देंगे। भारतीय शिक्षण मंडल के सहायक प्रमुख आचार्य दीपक कोईराला ने बताया कि इस दौरान कई गुरुकुल स्टॉल लगाकर अपने गुरुकुल पद्धति और उसके कार्यों के बारे में समाझाएंगे। कई गुरुकुल हाथ से लिखे गए ग्रंथ, कागज, स्याही और गुरुकुल शिक्षण पद्धति में प्रयोग होने वाली वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाएंगे। वही शनिवार की शाम भव्य सांस्कृतिक प्रदर्शनी का मंचन किया जाएगा। जिसमें देशभर से आये गुरुकुल अपनी - अपनी कलाओं को प्रदर्शित करेंगे। इस दौरान नाट्य शास्त्र, संगीत शास्त्र सहित सैकड़ों भारतीय वैज्ञानिक खेलों का भी प्रदर्शन किया जाएगा। 

सोमयाग - षोडशी यज्ञ अनुष्ठान से होगा सम्मेलन का उद्घाटन : 
उद्घाटन सत्र के अवसर पर वैदिक अनुष्ठान पर आधारित सोमयाग- षोडशी यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। जिसे देशभर के वैदिक आचार्य संपन्न करायेंगे। भारतीय शिक्षण मंडल के संगठन मंत्री मुकुल कानिटकर ने बताया कि स्वयं की कामना से मुक्त होकर समस्त विश्व के कल्याण के लिए इस यज्ञ का अनुष्ठान किया जा रहा है। 
मध्यप्रदेश संस्कृति विभाग के मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय गुरुकुल सम्मेलन की तैयारी नेपाल, म्यांमार और बेंगलुरु में आयोजित सम्मेलनों में की जा चुकी है। इस सम्मेलन में नेपाल, म्यांमार, इंडोनेशिया, मॉरीशस, त्रिनिनाद सहित विश्व के कई देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं।  इसके साथ ही देश के 70 से अधिक विश्वविद्यालयों के कुलपति, शिक्षा क्षेत्र के शोधार्थी, सामाजिक कार्यकर्ता और उद्योगपति भी मौजूद रहेंगे। वहीं समापन सत्र में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी और अन्य संत उपस्थित होंगे। 

उज्जैन। प्रतिनिधि