जाते जाते नेत्रदान कर जीवन की सार्थकता को बढ़ाया वरिष्ठ प्रचारक कश्मीरी लाल जी ने

दिंनाक: 01 May 2018 17:13:50


देश सेवा में समर्पित हरियाणा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक रहे कश्मीरी लाल जी का लम्बी बीमारी के बाद रोहतक में आज निधन हो गया। वर्ष 1966 मे अध्यापक की नौकरी छोड़कर समाज सेवा की राह चुनते हुए वे संघ के प्रचारक बने। संघ कार्य के प्रति उनकी निष्ठा, कार्यकर्ताओं की संभाल, मेहनती स्वभाव के कारण हरियाणा में स्वयंसेवकों के बीच वे ताऊ जी के नाम से लोकप्रिय थे। 


1992 से उन्होंने प्रान्त सेवा प्रमुख के रूप लगातार गरीब बस्तियों में चल रहे सेवा प्रकल्पों के संचालन में नई दिशा प्रदान की। एक आदर्श स्वयमसेवक के नाते उन्होंने सदा कार्यकर्ताओं का मार्ग दर्शन किया। 1940 में जन्मे कश्मीरी लाल जी का परिवार दिल्ली नजफगढ़ में रहता था। उनके परिवार में 4 भाई और तीन बहनें हैं। उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज सेवा को समर्पित कर दिया था। जाते-जाते भी अपने नेत्रदान कर दो लोगों के जीवन को नई रोशनी देकर उन्होंने समाज के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है। प्रांत कार्यालय प्रमुख बलदेव राज के अनुसार प्रचारक के रूप में  हरियाणा के विभिन्न जिलों में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया। हरियाणा में प्रान्त सेवप्रमुख, प्रान्त प्रचारक प्रमुख रहे। वर्तमान में सेवाभारती के सरंक्षक थे। 80 वर्ष की आयु में उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके प्रार्थिव शरीर को भावभीनी श्रद्धांजलि देने के लिए प्रान्तभर से कार्यकर्ता रोहतक में पहुंचे।