लोक कल्याण के लिए हो पत्रकारिता - लोकेंद्र सिंह

दिंनाक: 14 May 2018 16:04:20


भोपाल(विसंके). लोकतंत्र की सफलता में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। लोकतंत्र की खूबसूरती और मजबूती के लिए पत्रकारिता का निष्पक्ष होना आवश्यक है। मीडिया का यह दायित्व होना चाहिए कि वह सामाजिक सद्भावना और सौहार्द को बनाए रखे। वह लोगों के हितों की बात करे। पत्रकार को लोक कल्याण की भावना को केंद्र में रखकर समाचार सम्प्रेषण करना चाहिए। यह विचार लेखक और विश्व संवाद केंद्र, भोपाल के निदेशक लोकेंद्र सिंह ने राजगढ़ में आयोजित नारद जयंती सम्मान समारोह में व्यक्त किये। 
"समाज, सद्भाव और मीडिया" विषय पर अपनी बात रखते हुए श्री सिंह ने कहा कि महात्मा गांधी और बाबा साहेब अंबेडकर ने राष्ट्र के लिए सेवा भाव से पत्रकारिता की। वे अपने पत्रकारिता के माध्यम से लोगों की भावनाओं को समझना, उन्हें दूसरे लोगों तक पहुंचाना, सामाजिक दोष को उजागर करना और समाज को मार्गदर्शन देने का कार्य करते थे। उन्होंने नारद जी का उल्लेख करते हुए कहा कि कुछ लोग नारद जी को आदि पत्रकार भले न माने पर वह आदि संचारक थे। उन्होंने कभी भी स्वयं के हित के लिए संवाद नहीं किया। वह लोक कल्याण के लिए संवाद का कार्य करते थे। सार्थक संवाद के कारण उन्हें देवताओं और असुरों के बीच समान रूप से सम्मान प्राप्त था। वह अवध्य थे। उन्होंने कृष्ण अर्जुन युद्ध का उल्ले्ख करते हुए कहा  कि नारद जी ने कभी भी सत्य से समझौता नहीं किया।
तथ्यों को जांच परख कर ही प्रेषित करें समाचार : 
श्री लोकेंद्र सिंह ने कहा कि आज पत्रकारिता में चुनौतियां बढ़ गयी है। प्रतिस्पर्धा भी कड़ी है। कुछ लोग बिना तथ्यों की जांच किये खबरें प्रकाशित कर देते हैं। उन्होंने कठुआ प्रकरण, गुजरात दलित प्रकरण आदि घटनाओं का उल्लेख करते हुए बताया कि मीडिया ने किस तरह जल्दबाजी में भ्रामक समाचार प्रसारित किए और उसके कारण उत्पन्न सामाजिक द्वेष की ओर भी उन्होंने संकेत किया। इस प्रकार के समाचारों से समाज में सद्भावना बिगड़ी है। कठुआ प्रकरण के बाद सोशल मीडिया और अन्य जगहों पर हिन्दू धर्म विशेष के खिलाफ दुष्प्रचार किया। हमें ऐसी कुंठित मानसिकता से बचने की आवश्यकता है। हमें नारद जी के स्थापित मूल्यों को लेकर पत्रकारिता करने की आवश्यकता है। हमें समाचार प्रकाशित करने से पहले तथ्यों को परखने की आवश्यकता है। 

वही इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार सत्येंद्र भारिल्ल ने कहा कि आज हम जो भी है वह नारद जी के कारण ही है। वे हमारे पत्रकारिता के पूर्वज हैं। उन्होंने कहा कि हमें आपस में सामंजस्य बनाकर समाजिक सद्भावना को बनाएं रखने के लिए पत्रकारिता करनी चाहिए।

इस अवसर पर सत्येंद्र व्यास, भानु ठाकुर समेत नगर के विभिन्न समाचार पत्रों और मीडिया समूह के पत्रकारों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में आभा आनंद उपस्थित थी। कार्यक्रम की अध्यक्षता अशोक शर्मा ने किया जबकि संचालन मनीष वैष्णव ने किया। इस अवसर पर प्रहलाद पवार, रामकृष्ण गुप्ता, रोहित गुप्ता, मंगल व्यास, मनोज शर्मा आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहें।