पारंपरिक ठंडे पेय हैं स्वास्थवर्धक

दिंनाक: 25 May 2018 13:43:06


भोपाल(विसंके). हमारे पारंपरिक पेय स्वस्थ्य के लिए अति उत्तम व स्वास्थ्यवर्धक होते हैं. जैसे – कच्चे आम का पना, बेल का शरबत, छाछ, नीबू पानी जलजीरा, नारियल पानी, गन्ने का रस, शिकंजी, अमरस, दूध की कच्ची लस्सी,सत्तू आदि.
नीबू पानी :- गर्मी में नीबू पानी न सिर्फ शरीर में पानी कि कमी को पूरा करता है बल्कि शरीर से टोक्सिन तत्वों को भी बाहर निकलता है. नीबू पानी में विटामिन सी व पोटेशियम अच्छी मात्रा में होता है, जिससे शरीर का रक्त संचार ठीक रहता है, ओर कोलेस्ट्रोल संतुलित रहता है.

लस्सी:- यह आपके लिए सम्पूर्ण आहार का काम करती है. दही में कैल्शियम अन्य गुणकारी तत्व पाए जाते हैं. जो कि शरीर के लिए बहुत लाभदायक है. यह तुरंत उर्जा देती है, पाचन तंत्र को भी सही रखती है.

बेल:- पके बेल के शरबत से पेट साफ़ रहता है. वात कफ का भी शमन होता है.

पना :- कच्चे आम का पना पीने से गर्मी से राहत मिलती है और लू नहीं लगती

जलजीरा :- जीरा, काला नमक, अदरक, अमचुर व हींग, को पानी में मिलाकर जलजीरा तैयार होता है. यह शरीर की पानी की कमी को तो पूरा करता ही है साथ ही पाचन भी अच्छा रखता है. इसमें आयरन, विटामिन सी जैसे तत्व होते हैं. जो शरीर को ठंडा रखते हैं व शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाते हैं. 

साभार :- पथिक सन्देश