चित्रकूट नगर वासियों के योग प्रशिक्षणों का जादू चित्रकूट नगर ही नहीं, गाँव-गाँव में देखने को मिल रहा हैं ।

दिंनाक: 18 Jun 2018 18:19:58


भोपाल(विसंके). योग एक आध्यात्मिक प्रक्रिया है जिसमें शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा का एक साथ लाने का काम होता है। योग का जन्म भारत भूमि पर ही हुआ। हमारे ऋषि - मुनि पर्वत, कन्दराओं, गुफाओं में रहकर योग क्रिया के द्वारा स्वस्थ्य निरोगी रहा करते थे। बीच में विदेश शासकों के शासन के कारण योग की निरन्तरता पर भी कुछ प्रभाव पडा। हमारे योग गुरूओं ने 5 हजार वर्ष पुरानी पतंजलि की योग परम्परा को फिर से किया। हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेद्र दामोदर मोदी जी के अथक प्रयासों से योग को विश्व मंच पर पहॅुचाने का कार्य हुआ। विगत 4 वर्षो से 21 जून को पूरा विश्व योग दिवस के रूप में मना रहा है। जिसमें विश्व के 180 से अधिक देश एक साथ योग क्रियायें करते है।


दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट के अथक प्रयासों से चित्रकूट की 50 कि. मी. की परिधि में भी योग के बारे में एक अलख जगी है। चित्रकूट के सभी मठ, मन्दिर, शैक्षिक एवं सामाजिक संस्थाओं के कार्यकर्ता एक साथ सामूहिक रूप से मिलकर 21 जून को योग क्रियायें करते है। हर वर्ष सभी संस्थाओं के सामूहिक विचार-विमर्श से अलग-अलग स्थानों पर सामूहिक योग क्रियायें की जाती है, जिसके क्रम में प्रथम वर्ष एवं द्वितीय वर्ष महात्मा गाँधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय में एवं तृतीय वर्ष सदगुरू सेवा संघ ट्रस्ट जानकी कुण्ड चित्रकूट में यह सामूहिक आयोजन सम्पन्न हुआ। इस वर्ष सबकी सहमति से योग का यह सामूहिक कार्यक्रम 21 जून 2018 को दीनदयाल शोध संस्थान के सुरेन्द्रपाल ग्रामोदय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के खेल प्रागंण में प्रातः 6:00 बजे से 7:00 बजे तक सम्पन्न होगा।
योग का शाब्दिक अर्थ जोड़ है। धर्मार्थ काम मोक्षणाम् मूल उत्तमंम्। मनुष्य के चारों पुरूषार्थ के लिए स्वास्थ्य का उत्तम होना आवश्यक है। अर्थात मानव शरीर मन, बुद्धि एवं आत्मा तथा चारों पुरूषार्थ धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष को जोड़ना परिणामतः बसुधैव कुटुम्बकम् का द्यौतक है। इसी मूल मंत्र को लेकर दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट के द्वारा अपने स्वास्थ्य प्रकल्प आरोग्यधाम के योग सदन में 5 से 8 जून एक प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रतिवर्ष की भाति रखा। जिसमें प्रशिक्षित योग शिक्षक चित्रकूट के 16 केन्द्रों में 9 से 20 जून तक प्रतिदिन  प्रातः 6:00 बजे से 7:00 बजे तक योग प्रशिक्षण दे रहे है, ये केन्द्र है-चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय, उद्यमिता विद्यापीठ, आरोग्यधाम, जानकी महल, सदगुरू सेवा ट्रस्ट संघ, प्रमोदवन, रामायणीकुटी, वनवासी राम मंदिर नयागांव, संतोषी आखाड़ा, भरत मन्दिर, सरस्वती शिशु मन्दिर सीतापुर, जगद्गरू रामभद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय, गायत्री शक्तिपीठ, कामदगिरि प्रमुख द्वार राम मोहल्ला भागवतधाम खोही एवं रामनाथ आश्रमशाला।


                21 जून 2018 को चित्रकूट नगर के योग प्रेमी एक साथ प्रातः 5:45 बजे दीनदयाल शोध संस्थान के शैक्षिक प्रकल्प सुरेन्द्रपाल ग्रामोदय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान में एकत्र होकर 7: 00 बजे तक सामूहिक योगाभ्यास करेगे एवं इसके साथ ही दीनदयाल शोध संस्थान के समाजशिल्पी दम्पति द्वारा चित्रकूट के 50 कि. मी. की परिधि में आने वाले उत्तर प्रदेश के चित्रकूट एवं मध्यप्रदेश के सतना जिले के कुल 500 ग्रामों में भी सामूहिक योग कार्यक्रम सम्पन्न होगा।