आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 21 Jun 2018 15:08:33


भोपाल(विसंके). ध्येय पर अविचल दृष्टि रख कर मार्ग में मखमली बिछौने हों या कांटे बिखरे हों, उनकी चिंता न करते हुए निरंतर आगे ही बढने के दृढ़ निश्चय वाले कृतिशील तरुण खड़े करने पड़ेंगे.

     - परम पूजनीय डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार