आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 28 Jun 2018 17:04:45


कबीर दास जी कहते हैं कि किसी भी सज्जन या साधु की जाति न पूछ कर उसके ज्ञान को हमें समझना चाहिए. हमेशा तलवार का मूल्य होता है न कि उसकी मयान का – उसे ढकने वाले खोल का.


-संत कबीरदास