आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 18 Jul 2018 14:49:33



मैं यह बात जोर देकर कहता हूँ कि मैं महत्त्वाकांक्षा और  आशा एवं जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ. परन्तु आवश्यक होने पर मैं यह सब त्याग सकता हूँ, और वही सच्चा त्याग है.

- शहीद भगतसिंह