आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 31 Jul 2018 13:41:25

 


खाने और सोने का नाम जीवन नहीं है, जीवन नाम है, आगे बढ़ते रहने की लगन का

  • मुंशी प्रेमचंद