आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 13 Aug 2018 14:53:56


वेदान्त कोई पाप नहीं जानता, वो केवल त्रुटी जानता है. और वेदान्त कहता है कि सबसे बड़ी त्रुटी यह कहना है कि तुम कमजोर हो, तुम पापी हो, एक तुच्छ प्राणी हो, और तुम्हारे पास कोई शक्ति नहीं है और तुम कुछ नहीं कर सकते.


  • स्वामी विवेकानंद