सफ़ेद जहर हैं, चीनी, रिफाइंड चावल, नमक और मैदा कैसे पहुंचाते है सेहत को नुकसान ?

दिंनाक: 23 Aug 2018 16:11:50


भोपाल(विसंके). आहार विशेषज्ञों के मुताबिक डाइट में रिफाइन फूड को कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए। चीनी और नमक से हमारे भोजन के जायके में तो इजाफा होता हैं, लेकिन जरूरत से ज्यादा इनका सेवन सेहत को भारी नुकसान भी पहुंचा सकता है। बेहतर स्वास्थ्‍य के लिए जरूरी है कि चीनी और नमक का नियंत्रित सेवन ही किया जाए।


शक्कर :-

मोटापा, डायबिटीज और लिवर डिजीज बढ़ाती है, शक्कर में भारी मात्रा में कैलोरी रहती है। इसमें जरूरी पोषण कुछ भी नहीं है। मेटाबॉलिज्म पर ये खराब असर डालती है और इससे कई तरह की बीमारियां, जैसे मोटापा, कैंसर, टाइप—2 डायबिटीज, लिवर के रोग हो सकते हैं। शक्कर के रक्त में मिलने से पहले पाचन मार्ग में यह सिम्पल शुगर के दो भाग ग्लूकोज़ और फ्रक्टोज़ में विभाजित होती है। जो लोग शारीरिक श्रम नहीं करते हैं, उन्हें इससे मुश्किल होती है।

रिफाइंड चावल :-

ब्लड शुगर का लेवल बढ़ता है, चावल की प्रोसेसिंग कर उसे रिफाइन किया जाता है। धान के रूप में उसका जो छिलका रहता है, वह निकाल लेते हैं। इसके बाद इसमें सिर्फ स्टार्च शेष रहता है। इसका अधिक सेवन करने से ब्लड शुगर बढ़ सकती है और ग्लूकोज का स्तर भी भारी मात्रा में बढ़ता है।

रिफाइंड नमक :-

ब्लड प्रेशर बढ़ने का खतरा
नमक शरीर में पानी की मात्रा बनाए रखता है। यदि आप ज्यादा नमक का सेवन करेंगे तो पानी ज्यादा मात्रा में होगा और आप रक्तचाप की चपेट में आ जाएंगे। हमारे देश में वयस्कों में हर तीन में से एक इससे पीड़ित है। चूंकि रिफाइंड नमक में आयोडीन खत्म हो जाता है और प्रोसेसिंग के दौरान इसमें फ्लोराइड मिलाया जाता है। पौन चम्मच नमक दिन भर में खाना ठीक है। 

मैदा:

नहीं मिलता है फायबर
जब भी मैदा बनाया जाता है, गेहूं पर से एंडोस्पर्म हट जाता है। साथ ही गेहूं में पाचन के लिए जो फाइबर होता है, वह नष्ट हो जाता है। लिहाजा यह पाचन को और कठिन बना देता है। क्योंकि इसे पीसकर इतना महीन कर दिया जाता है कि उसमें सारे तत्व समाप्त हो जाते हैं।

कितना नमक है सही

चुटकी भर नमक ही आपकी सेहत के लिए काफी है। सेहतमंद रहने के लिए दो ग्राम ही काफी है। अगर आप स्वस्थ हैं तो शरीर अतिरिक्त नमक को शरीर से बाहर निकाल देगा। लेकिन समस्या तब होती है जब आपकी किडनी कमजोर हो या फिर आप डायबिटीज से पीडि़त हों। या तो आप शरीर के आंतरिक संतुलन को ठीक रखने वाली किसी दवा का सेवन कर रहे हों तो, ऐसी सूरत में अतिरिक्त नमक शरीर से बाहर नहीं निकल पाता। इससे हाईबीपी की शिकायत हो सकती है। इतना ही नहीं हालात किडनी फेलियर तक पहुंच सकती हैं।

कितनी चीनी है जरूरी

चीनी हमारे शरीर के लिए जरूरी है। यह शरीर को काब्रोहाइड्रेट और ग्लूकोज मुहैया कराती है। लेकिन डॉक्टरों की मानें तो शरीर के लिए जरूरी कैलोरी में चीनी से मिलने वाली कैलोरी की मात्र 10 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। उदाहरण के लिए महिलाओं को रोजाना औसतन 1800 कैलोरी की जरूरत होती है ऐसे में चीनी से प्राप्त होने वाली कैलोरी 180 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। लेकिन, एक चम्मच चीनी में लगभग 50 कैलोरी होती है। यानी साढ़े तीन चम्मच से ज्यादा चीनी आपके लिए बीमारियों को न्योता हो सकती है।

व्यायाम रखेगा काबू

अगर आपकी उम्र 35 साल तक है और आप व्यायाम करती हैं तो 4-5 चम्मच तक चीनी नुकसान नहीं पहुंचाएगी। इसके बाद अपनी डाइट में चीनी की मात्रा जरूर कम करें।