आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 23 Aug 2018 13:34:53


जो लोंग मन को नियंत्रित नहीं करते। उनके लिए मन शत्रु के समान कार्य करता है।


– श्रीमद्भगवद्गीता