आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 28 Aug 2018 13:24:40


उस स्थान पर एक पल भी नही ठहरना चाहिए जहाँ आपकी इज्जत न हो, जहाँ आप अपनी जीविका नही चला सकते है जहाँ आपका कोई दोस्त नही हो और ऐसे जगह जहाँ ज्ञान की तनिक भी बाते न हो |

  • आचार्य चाणक्य