आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 17 Sep 2018 14:56:49


अंग्रेजी का प्रयोग मौलिक सोच में अवरोध है, हीनता की भावनाओं का प्रजनक है और शिक्षित एवं अशिक्षित जनता के बीच की दूरी है. आइये, हम हिंदी की असल प्रतिष्ठा को पुनर्स्थापित करने के लिए संगठित हो जाएं.

- डॉ. राममनोहर लोहिया