आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 16 Jan 2019 13:19:10

 

 


 

  • सच्ची शक्ति उसे कहते हैं जिसमें अच्छे गुण, शील, विनम्रता, पवित्रता, परोपकार की प्रेरणा तथा जन –जन के प्रति प्रेम भरा हो. मात्र शारीरिक शक्ति ही शक्ति नहीं कहलाती.

                               - माधव सदाशिव गोलवलकर(गुरुजी)