सबरीमाला जाने के रास्ते से CPI (M) की दो महिला कार्यकर्ता को रोका।

दिंनाक: 17 Jan 2019 12:56:33


विसंके - सबरीमाला जाने वाले रास्ते में पुलिसकर्मियों द्वारा सीपीआई (एम) की दो महिला कार्यकर्ताओं को बुधवार तड़के (16 जनवरी) सुबह सबरीमाला के रास्ते में रोक दिया गया। महिलाओं ने अपनी पहचान छुपाने के लिए अपने चेहरे ढंक रखे थे। जनम टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, भक्तों ने रेशमा निशांत, माकपा कार्यकर्ता और उसकी दोस्त शनीला को देखा। बताया गया है कि समूह में चार और महिलाएं थीं। रिपोर्टों से पता चलता है कि पुलिस कुछ महिलाओं को दूसरे मार्ग से संनिधानम ले जाने की कोशिश कर रही है।

 

महिलाओं का विरोध करने वाले भक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। रेशमा निशांत ने पुलिसवालों पर चिल्लाया और उन्हें भक्तों को गिरफ्तार करने के लिए कहा।

 

सरकार के प्रतिबंध और शत्रुतापूर्ण पुलिस दृष्टिकोण के कारण इस साल सबरीमाला में भक्तों की संख्या में गिरावट आई है।

कांग्रेसी नेता रामचंद्रण ने कहा “सरकार ने सबरीमाला को नष्ट कर दिया है। खबरों के मुताबिक, देवस्वाम बोर्ड ने मंदिर के चढ़ावे में 100 करोड़ रुपये की गिरावट देखी। मकर विलाकु उत्सव के दौरान, आमतौर पर 5-10 लाख श्रद्धालु आते हैं। लेकिन इस साल के आंकड़ों से पता चलता है कि मकररा विलाकु के साक्षी बनने के लिए लगभग 25,000 लोग थे, ”

 

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (15 जनवरी) को केरल का दौरा किया और कहा कि सबरीमाला मुद्दे पर राज्य सरकार का रुख शर्मनाक है। “सबरीमाला पर माकपा की सरकार का आचरण सत्ता में किसी भी सरकार की सबसे शर्मनाक कार्रवाई के रूप में इतिहास में लिखा जाएगा। हम जानते हैं कि माकपा सरकार ने कभी किसी राष्ट्र के इतिहास, संस्कृति और आध्यात्मिकता का सम्मान नहीं किया, लेकिन किसी ने भी नहीं सोचा था कि यह इतना शर्मनाक होगा।