आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 04 Jan 2019 14:15:59


राष्ट्र, लोगों की तरह सिर्फ जो हांसिल किया उससे नहीं बल्कि जो छोड़ा उससे भी निर्मित होते हैं.

- डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन