आज की अभिव्यक्ति

दिंनाक: 05 Jan 2019 15:58:57


कोई भी जो स्वयं को सांसारिक गतिविधियों से दूर रखता है और इसके संकटों के प्रति असंवेदनशील है, वास्तवं में बुद्धिमान नहीं हो सकता.

- डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन